सीआरपीएफ को चुनाव ड्यूटी के बहाने मप्र लाए, फिर मारा छापा

NDIhts"tle fuU ˘urxlb ˘tst bü ;ilt; füUŠeg rhsJo vwr˜m c˜ fuU sJtl> meythveYVU fUbtzüx dux vh ;ilt; sJtltü mu aato fUh;u ýY>

भोपाल. इनकम टैक्स की छापेमारी के लिए दिल्ली से बुलाई गई सीआरपीएफ जवानों की टुकड़ी को चुनाव ड्यूटी के नाम पर भोपाल लाया गया। प्रदेश की खुफिया एजेंसी ने जब केंद्र से जानकारी चाही तो बताया गया कि चुनाव से जुड़े काम के लिए टुकड़ी को भेजा जा रहा है। केंद्र ने छापेमारी के दौरान स्थानीय पुलिस के बजाय सीआरपीएफ के जवानों का उपयोग किया साथ ही मप्र, गोवा और दिल्ली के ठिकानों पर होने वाली छापेमारी को लेकर राज्य पुलिस को भ्रम में बनाए रखा।
कार्यवाही की कमान दिल्ली आयरक के डायरेक्टर हरीश ने संभाली
प्रवीण कक्कड़ पर हुई कार्यवाही की कमान दिल्ली आयरक के डायरेक्टर इंवेस्टिगेशन हरीश कुमार ने संभाल रखी है। आयकर विभाग के जानकारों के अनुसार इंदौर आयकर में पदस्थ एक वरिष्ठ अधिकारी से कक्कड़ के नजदीकी संबंध है ऐसे में कार्यवाही की गोपनीयता भंग होने और प्रभावित होने का डर था। दिल्ली आयकर के अधिकारियों ने न तो स्थानीय आयकर विभाग को इसकी भनक लगने दी और न ही कार्यवाही में शामिल किया। शाम को स्थानीय आयकर विभाग से संपर्क कर वैल्युएशन करने के लिए विशेषज्ञों की मांग की इसके बाद रजिस्टर्ड व्यक्तियों को स्थानीय अधिकारियों ने कक्कड़ के घर से बरामद गहनों और कीमती वस्तुओं की कीमत आंकने के लिए भेजा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *