5 जी ट्रायल-गृहमंत्रालय और पीएमओ और डीओटी से सलाह करने के बाद ही देगा मंजूरी

नई दिल्ली. दूरसंचार विभाग (डीओटी) चीनी दूरसंचार दिग्गज हुआवेई को आगामी 5जी स्पेक्ट्रम आधारित फील्ड परीक्षण के लिये पहले गृह मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) के साथ सलाह करेगा और उसके बाद ही मंजूरी देगा। यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों ने दी हैं। अधिकारी ने कहा है कि यह एक सुरक्षा से जुड़ा मुद्दा है जो केवल दूरसंचार या प्रौद्योगिकी नहीं है। गृह मंत्रालय को भी लूप में रहना होगा और पीएमओ को भी जिनके विचार देश की सुरक्षा संबंधित मामलों पर बहुत अहम हैं।
5 जी परीक्षण के बाद ही फैसला
केन्द्र सरकार ने 5 जी परीक्षणों में हुआवेई की भागीदारी पर फैसला करने के लिये प्रधान वैज्ञानिक सलाहकार की अध्यक्षता में एक समिति का गठन किया गया है, सूत्रों के अनुसार इस मुद्दे पर समग्र दृष्टिकोषण लेने के लिये समिति की अनुशंसा को गृह मंत्रालय और पीएमओ के पास भेजा जायेगा। नये दूरसंचार मंत्री रविशंकर प्रसाद ने हाल में कहा था। जहां तक 5 जी का सवाल है यह केवल तकनीक से जुड़ा मामला नहीं हैं। इसमें सुरक्षा से जुड़े मुद्दे भी शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *