पीओके में आतंकी कैंप सक्रिय, अजीत डोभाल ने ली हाई लेवल मीटिंग

जम्मू कश्मीर. जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद से घाटी हाईअलर्ट पर है। भारत की इस बड़ी कार्रवाई के बाद से ही पाकिस्तान पूरी तरह बौखलाया हुआ है। यही वजह है कि घाटी में सुरक्षा व्यवस्था को लेकर खुद एनएसए अजीत डोभाल ने डेरा जमाए रखा है।
पीओके में एक दर्जन आतंकी कैंप सक्रिय
खुफिया एजेंसी की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक बौखलाए पाकिस्तान ने पीओके (पाक अधिकृत कश्मीर) में एक दर्जन आतंकी कैंपों को जम्मू कश्मीर के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सक्रिय किया है। हालांकि इस खुफिया रिपोर्ट से पहले ही घाटी हाईअलर्ट पर है वहीं भारतीय सेना ने भी मोर्चा संभाल लिया है। नौसेना के सभी युद्धपोतों को भी तैनात कर दिया गया है।
पीओके में आतंकियों की बड़ी मूवमेंट देखी गई
इस बीच एनएसए अजीत डोभाल में घाटी में सुरक्षा को लेकर उच्च स्तरीय बैठक की है। इस बैठक में चप्पे-चप्पे पर तैनात सुरक्षाबलों की स्थिति और किसी तरह के हमले से निपटने की रणनीति पर चर्चा हुई है। खुफिया एजेंसियों से मिली रिपोर्ट के मुताबिक पिछले हफ्ते पीओके में कुछ आतंकी शिविरों के आस-पास आतंकियों की बड़ी मूवमेंट देखी गई थी। वहीं भारतीय सुरक्षाबलों को गुलाम कश्मीर क्षेत्र के कोटली, रावलकोट, बाग और मुजफ्फराबाद में आतंकी कैंपों के चलते हाई अलर्ट पर रखा गया है।
मसूद अजहर के भाई इब्राहिम को पीओके में देखा 
खुफिया रिपोर्ट में इस बात का भी खुलासा हुआ है कि मुजफ्फराबाद क्षेत्र के कोटली और शावई नाला, अब्दुल्ला बिन मसूद शिविरों के पास जेइएम, लश्कर और तालिबान के 150 से ज्यादा कैडर कथित रूप से फागोश और कुंड कैंपों में एकत्र हुए है। यही नहीं जेएएम के प्रमुख मौलाना मसूद अजहर के भाई इब्राहिम अजहर को भी पीओके क्षेत्र में देखा गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *