लोकायुक्त के पूर्व डीजी गुर्टू व 5 आईएएस अधिकारियों पर एफआईआर

 

भोपाल. 26 साल पहले लोकायुक्त की विशेष पुलिस स्थापना में डीजी (पुलिस महानिदेशक) रहे अरूण गुर्टू और उज्जैन कलेक्टर रहे 5 आईएएस अधिकारियों, पीडब्ल्यूडी के 3 इंजीनियरों समेत 16 लोगों के खिलाफ उज्जैन की दताना-मताना हवाई पट्टी की लीज राशि वसूल न कर पाने को लेकर लोकायुक्त पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है-शिवशेखर शुक्ला, अजातशत्रु श्रीवास्तव, एम गीता, बीएम शर्मा व कवींद्र कियावत। इनके अलावा लोक निर्माण विभाग के कार्यपालन यंत्री रहे एसएस सलूजा, एके टूटेजा और जीपी एटेल समेत 14 लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम और आईपीसी की धारा 120 बी (षड्यंत्र) के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है।
2006 में लीज पर दी थी हवाई पट्टी
मालूम हो राज्य शासन ने 2006 में यश एयरवेज को पायलटों के प्रशिक्षण के लिए उज्जैन की दताना-मताना हवाई पट्टी लीज पर दी थी। इसके एवज में यश एयरवेज को हर वर्ष लगभग डेढ़ लाख रु. लीज रेंट के तौर पर जमा करना थे साथ ही हवाई पट्टी का रखरखाव भी इसी कंपनी के जिम्मे था। कंपनी द्वारा रखरखाव खुद नहीं कर पाने पर पीडब्ल्यूडी को राशि देकर उसकी मरम्मत कराने की शर्त थी। यश एयरवेज ने उस वर्ष का लीज रेंट तो जमा किया जिस वर्ष लीज मिली लेकिन अगले साल से लीजरेंट जमा करना बंद कर दिया। कुछ समय बाद यश एयरवेज का नाम सेंटार एविएशन लिमिटेड कर दिया गया इसके बाद यश एयरवेज या सेंटार एविएशन ने न तो लीज रेंट जमा किया और न ही हवाई पट्टी का रखरखाव किया।
मरम्मत पर 2 करोड़ 66 लाख रु. खर्च
बताया जाता है कि हवाई पट्टी को उड़ानों के अनुकूल बनाने के लिए 2013 में तत्कालीन कलेक्टर बीएम शर्मा ने कार्रवाई की। शर्मा ने पीडब्ल्यूडी के माध्यम से हवाई पट्टी की मरम्मत पर 2 करोड़ 66 लाख रु. सरकारी खजाने से खर्च कराए लेकिन इस राशि की यश एयरवेजा या सेंटार एयर लिमिटेड से वसूली नहीं की।
2007 से लेकर 2016 के बीच लीज रेंट की राशि नहीं मिलने और हवाई पट्टी का रखरखाव नहीं होने पर तत्कालीन कलेक्टरों ने यश एयरवेज या सेंटार एविएशन लिमिटेड के खिलाफ लीज निरस्तीकरण व हवाई पट्टी की मरम्मत करने के नोटिस देने तक की कार्रवाई नहीं की। बताया जाता है कि यश एयरवेज/सेंटार एविएशन लिमिटेड के कर्ताधर्ता यश टोंग्या का लाइसेंस 2012 में एक विमान दुर्घटना को लेकर डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन द्वारा निरस्त कर दिया था क्योंकि उनकी अनुपस्थिति में एक विमान ने उड़ान भरी और हाईटेंशन लाइन में फंसने से वह दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसमें 2 लोगों की जान गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *