दिल्ली से आई रिपोर्ट में इंदौर में 110 पॉजिटिव, कुल 696 मरीज

इंदौरगुरुवार सुबह आई एक रिपोर्ट के अनुसार इंदौर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 110 और बढ़ गई है। इन्हें मिलाकर इंदौर में अब तक 696 कोरोना संक्रमित मरीज मिल चुके हैं। इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. प्रवीण जड़िया ने इसकी पुष्टि की है। ये 110 मरीज दिल्ली के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजिकल में भेजे गए सैंपल की जांच में संक्रमित पाए गए हैं। इंदौर से 1142 सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे गए थे। इनमें से बुधवार देर रात तक 403 की रिपोर्ट आ चुकी थी। इन 403 सैंपल में से 140 पॉजिटिव मिले थे। अभी यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि आज सुबह मिले 110 पॉजिटिव कितने सैंपल की जांच में सामने आए हैं।

शहर में कोरोना से अब तक 39 लोगों की जान जा चुकी है। वहीं 37 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं। इंदौर में बुधवार देर रात को दो मरीजों की मौत की पुष्टि हुई जिसमें अन्नपूर्णा नगर की 95 वर्षीय महिला और एक पलसीकर क्षेत्र निवासी 63 वर्षीय पुरुष शामिल हैं। अब तक शहर के 159 इलाकों में कोरोना का संक्रमण फैल चुका है, जिसमें रानीपुरा, दौलतगंज, टाटपट्टी बाखल, चंदन नगर, खजराना और आजाद नगर जैसे इलाके इसका गढ़ बन चुके हैं।

राहत की बात : सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जड़िया के अनुसार अधिकतर मरीज क्वारंटाइन सेंटर या आइसोलेशन सेंटर में भर्ती हैं। पिछले 2-3 दिनों से जो मरीज सामने आ रहे हैं उन्हें भी रोक लिया गया है। लोगों को घबराने की जरूरत भी नहीं है। मरीजों के स्वस्थ होने की रफ्तार धीमी है। अब तक 39 लोगों को स्वस्थ होने पर घर भेजा जा चुका है।

इंदौर में पुलिस टीआई कोरोना पॉजिटिव, कई अन्य भी शंका के घेरे में

पूर्वी जिले में पदस्थ एक थाना प्रभारी कोरोना पॉजिटिव निकले हैं। वे कोरोना के मरीजों को अस्पताल भिजवाने और क्वारंटाइन करने वाले दल का हिस्सा थे। मंगलवार दोपहर उनकी रिपोर्ट आई तब वे अफसरों के साथ फ्लैग मार्च कर रहे थे। इसके पहले पश्चिम जिले के टीआई, हेड कांस्टेबल और प्रोबेशनर आईपीएस भी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। पुलिस अफसरों के कोरोना संक्रमित होने से अधिकारी-कर्मचारी सकते में हैं। शिकायत है कि सुरक्षा उपकरण व साधनों की कमी के कारण पुलिसकर्मी संक्रमित हो रहे हैं।

जोन-2 में पदस्थ इन थाना प्रभारी के क्षेत्र में कई लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए थे। टीआइ ने ही उन्हें अस्पताल भिजवाने में अहम भूमिका निभाई थी। इसके बाद मरीजों के स्वजन, रिश्तेदारों को क्वारंटाइन करवाया। बाद में उनमें भी कुछ की रिपोर्ट पॉजिटिव निकली। संभवत: इसी दौरान टीआइ का किसी संक्रमित से संपर्क हुआ और वे खुद चपेट में आ गए। हालांकि वे न तो बीमार हुए न सर्दी-खांसी जैसी समस्या हुई। बल्कि वह क्षेत्र में ड्यूटी भी करते रहे। मंगलवार दोपहर तो उन्होंने एसपी, एएसपी व सीएसपी के साथ फ्लैग मार्च भी निकाला। एसपी(पूर्वी) मो.युसूफ कुरैशी के मुताबिक टीआइ को चोइथराम अस्पताल भिजवा दिया गया है। उनके स्वजन, साथी पुलिसकर्मी, ड्राइवर की भी जांच करवाई जा रही है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed