मप्र में फेज-4 की तैयारी; ऑड और ईवन के फाॅर्मूले से बाजार खुल सकते हैं, धार्मिक स्थलों पर सख्ती से प्रतिबंध बना रहेगा

भोपाल. लॉकडाउन फेज-3 17 मई को समाप्त होने जा रहा है। इसके बाद फेज-4 शुरू होगा, ये कितने दिन का होगा- अगले दो दिन में पता चल जाएगा। बताया जा रहा है कि ये चरण 31 मई तक हो सकता है। केंद्र सरकार के निर्देश पर राज्य सरकार ने अपनी रणनीति तैयार कर ली है। लॉकडाउन फेज-4 का प्लान आज रात तक केंद्रीय गृह मंत्रालय भेज दिया जाएगा। फेज-4 में बाजारों को ऑड और ईवन के फाॅर्मूले से खोला जा सकता है। धार्मिक स्थानों पर प्रतिबंध 31 मई तक लागू रहेगा। ऐसे में मुस्लिम समाज को ईद घर पर ही मनानी पड़ेगी। इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पलायन कर रहे मजदूरों से अपील की है कि जो जहां हैं, वहीं रुक जाएं। प्रदेश सरकार सभी को सुरक्षित घर तक पहुंचाएगी।
कंटेनमेंट जोन में सख्ती जारी रह सकती है
लॉडाउन फेज-4 में भोपाल, इंदौर, उज्जैन, बुरहानपुर समेत सभी रेड जोन में सख्ती जारी रह सकती है। दो दिन की मशक्कत के बाद 32 जिलों की रिपोर्ट कलेक्टरों से और 20 जिलों की जानकारी 4 मंत्रियों से ली गई है। मुख्यमंत्री आज दोपहर 3:30 बजे इन सुझावों की समीक्षा कर अंतिम रूप देंगे। इसके बाद ये सुझाव केंद्र को जाएंगे।
कंटेनमेंट जोन के बाहर ढील होगी
भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने लॉकडाउन बढ़ाने की बात कही है, लेकिन कंटेनमेंट क्षेत्र के बाहर निर्माण की गतिविधियां बढ़ सकती हैं। कुछ अन्य वस्तुओं की दुकानों को खोला जा सकता है। शहर को छह सेक्टर में बांटा गया है। इसमें कोलार, होशंगाबाद रोड, रातीबड़, गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया, बीएचईएल और बैरागढ़ में ढील मिलेगी। कंटेनमेंट वाले एरिया में पूरी तरह से लॉकडाउन लागू रहेगा।
सुझाव: हर दिन अलग-अलग सेगमेंट की दुकानें खुलें
सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ऑड और ईवन के फाॅर्मूले से एक दिन छोड़कर एक दिन बाजार खोले जाएं या हर दिन अलग-अलग सेगमेंट की दुकानें खोली जा सकती हैं। जैसे- किसी दिन कपड़े की तो किसी दिन इलेक्ट्रॉनिक की।
शॉपिंग मॉल भी एक दिन छोड़कर एक दिन खोला जा सकता है।
कंटेनमेंट के बाहर निर्माण कार्य शुरू हों, ताकि सीपीए, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी और निजी बिल्डर्स पुराने प्रोजेक्ट्स पूरे कर सकेंगे।
निजी दफ्तर एक तय समय तक 33 फीसदी मैनपावर के साथ खोले जाएं। पब्लिक ट्रांसपोर्ट को प्रयोग के तौर पर शुरू किया जा सकता है।
होटल और रेस्तरां संचालकों को खाने की होम डिलीवरी और पार्सल सप्लाई के लिए खोलने की अनुमति दी जा सकती है।
पाबंदी: मॉल-शॉपिंग सेंटर, स्कूल कॉलेज बंद रह सकते हैं
हॉट स्पॉट और कंटेनमेंट क्षेत्र में रहने वालों के ग्रीन जोन में जाने पर पाबंदी लग सकती है।
मॉल, शॉपिंग सेंटर, बड़े सामाजिक और धार्मिक आयोजन, स्कूल-कॉलेज बंद रह सकते हैं। ग्रीन जोन और ऑरेंज जोन में जनजीवन शर्तों के साथ सामान्य होने की संभावना।
ग्रीन और ऑरेंज जोन के जिलों में गतिविधियां सामान्य हो सकती हैं। ग्रीन जोन के जिलों में मैनपावर 100 फीसदी किया जाएगा।
ऑरेंज जोन के कंटेनमेंट क्षेत्र के बाहर दफ्तर खुलेंगे, मैनपावर 50 से 70 फीसदी हो सकता है, लेकिन इसे घटाने और बढ़ाने का निर्णय कलेक्टर लेंगे। तमाम दुकानें खुल सकती हैं, लेकिन धारा 144 लागू रहेगी। ट्रांसपोर्ट सामान्य होगा। निर्माण के साथ अन्य कामों की छूट मिलेगी। ग्रीन जोन में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ हाट-बाजार खुलेंगे।

राज्य में एक दिन में 253 नए संक्रमित मिले
मध्यप्रदेश में गुरुवार रात तक 253 नए कोरोना मरीज मिले। अब प्रदेश में 4426 कोरोना संक्रमित हो गए हैं। 237 की मौत हो चुकी है। 2171 व्यक्ति स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं।
कोरोना अपडेट्स
भोपाल: शहर के 15 इलाकों को कंटेनमेंट जोन से बाहर कर दिया गया है। अब यहां लगाई गई बैरिकेडिंग भी हटा दी जाएगी। पिछले 28 दिन में इन क्षेत्रों में कोरोना पॉजिटिव नहीं मिलने के बाद यहां का स्कैल डाउन किया गया है। कंटेनमेंट एरिया हटने से यहां जरूरी सामान की दुकानों को भी खोला जाएगा।
जबलपुर: गुरुवार रात 4 नए कोरोना संक्रमित मिले। इनमें एक बच्ची भी शामिल है। यहां मरीजों की संख्या बढ़कर 162 पहुंच गई। इससे पहले शाम को भी 3 संक्रमित मिले थे। ये तीनों सर्वोदय नगर रानीताल निवासी हैं। जिले में अब तक 71 संक्रमित ठीक हो चुके हैं।
भोपाल: राजधानी के चिरायु अस्पताल से 18 लोगों को स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया। इन लोगों ने लोगों से कहा कि कोरोना से डरने की जरूरत नहीं है, यह सामान्य बीमारी है। लॉकडाउन का पालन करें और सोशल डिस्टेंसिंग अपनाएं।
कुल संक्रमित मरीज 4426 :
इंदौर 2238, भोपाल 900, उज्जैन 274, जबलपुर 157, खरगौन 97, घार 89, खंडवा 81, बुरहानपुर 95, रायसेन 65, देवास 58, मंदसौर 57, नीमच 45, होशंगाबाद 37, ग्वालियर 31, रतलाम 28, बड़वानी 26, मुरैना 25, सागर 14, आगर मालवा 13, विदिशा 13, भिंड 10, शाजापुर 8, सतना 7, झाबुआ 7, रीवा 7, छिंदवाड़ा 5, सीहोर 4, श्योपुर 4, सीधी 3, अलीराजपुर 3, अनूपपुर 3, हरदा 3, शहडोल 3, शिवपुरी 3, टीकमगढ़ 3, अशोकनगर, 3 डिंडोरी 2, बैतूल 1, गुना 1, मंडला 1, पन्ना 1, सिवनी में 1 मरीज।
कुल 237 मौतें: इंदौर 96, भोपाल 35, उज्जैन 45, खरगौन 8, देवास 7, खंडवा 8, जबलपुर 8, बुरहानपुर 9, मंदसौर 4, रायसेन और होशंगाबाद में 3-3, अशोकनगर, सीहोर, छिंदवाड़ा, शाजापुर, सतना, आगरमालवा, सागर, ग्वालियर और नीमच में 11 मरीज की मौत हुई है।
स्वस्थ हुए 2171 : इंदौर 1046, भोपाल 509, उज्जैन 142, खरगोन 55, धार 69, जबलपुर 65, खंडवा 38, रायसेन 42, होशंगाबाद 31, बड़वानी 26, देवास 15, बुरहानपुर 13, रायसेन 50, देवास 15, मंदसौर 7नीमच 4, होशंगाबाद 32, ग्वालियर 5, रतलाम 19, बड़वानी 26, मुरैना 17, सागर 5, आगरमालवा 12, विदिशा 13, शाजापुर 6, रीवा 1, छिंदवाड़ा 2, श्योपुर 4, अलीराजपुर 3, हरदा 3, शहडोल 3, शिवपुरी 2, , टीकमगढ़ 3, डिंडोरी 1, बैतूल 1 मरीज स्वस्थ्य हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *