जेएएच स्थित ब्लड बैंक में तीन दलाल को ब्लड बैंक की टीम ने पकड़ा, नशे के लिए 2 हजार में खून बेचते आए

ग्वालियर. जेएएच में दो हजार रुपए में ब्लड बेचने आए तीन दलालों को ब्लड बैंक के स्टाफ ने रंगेहाथ पकड़ा है और इन युवकों को टारगेट बाहर से आने वाले मरीजों के परिजन होते थे फिर डील के बाद ये मरीज का रिश्तेदार बनकर जेएएच की ब्लड बैंक पहुंचकर खून निकलवा देते थे। तीनों दलालों को पकड़कर कंपू पुलिस को सौंप दिया गया है और ये लोग नशे के आदी है साथ ही यही लत पूरी करने खून की दलाली करते है।
शाम को जेएएच स्थित ब्लड बैंक में 3 लड़के 2 हजार में खून बेचने आए

कुछ दिन पहले शहर में नकली प्लाज्मा रैकेट का पर्दाफाश होने के बाद खून के दलालों पर नकेल कसने जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग व पुलिस ने अपने-अपने स्तर पर प्रयास किए है। ब्लड बैंक में आने वालों पर नजर रखी जा रही है इसी सिलसिले में शुक्रवार शाम जेएएच स्थित ब्लड बैंक में तीन लड़के 2-2 हजार रु. में खून बेचने आए थे। मप्र स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के अध्यक्ष योगेन्द्र परमार को उन पर संदेह हो गया और उन्होंने तीनों युवकों को पकड़कर पूछताछ की तो मामले का खुलासा हुआ है। तीनों लड़कों की पहचान मुरार के बंशीपुरा निवासी रवि श्रीवास, नीरज किरार, दिलीप किरार के रूप में हुई है।
बाहर से आने वाले मरीजों के परिजन को ब्लड देते थे
जानकारी के अनुसार पकड़े गए युवकों ने कुबूल कर लिया है कि वह जेएएच में बाहर से आने वाले मरीजों के परिजन से डील कर उनके रिश्तेदार बनकर ब्लड देते है। खून देने के बदले 2 हजार रुपए लेते थे। इन रुपए से वह नशा करते थे। पकड़ गए तीनों युवकों को योगेन्द्र परमार ने कंपू पुलिस के सुपुर्द कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *