मप्र छोड़ कमलनाथ के दिल्ली जाने के संकेत

भोपाल. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ के दिल्ली जाने के संकेत है, ये बात खुद मध्य प्रदेश के पूर्व मंत्री और कमलनाथ के करीबी सज्जन सिंह वर्मा ने कही है। सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि अगर हाईकमान चाहेगा कि केंद्र में बैठकर कमलनाथ जी कांग्रेस को मजबूत बनाएं तो उस भूमिका को उन्हें निभाना पड़ेगा लेकिन हम जैसे लोग चाहते है कि वो मध्य प्रदेश में रहें। सज्जन सिंह वर्मा के बयान के बाद प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को लेकर राजनीतिक अटकलें बढ़ गई है।
प्रदेश कांग्रेस के सारे समीकरण ही बदल जाएंगे
कमलनाथ राष्ट्रीय कांग्रेस में जाएंगे या प्रदेश राजनीतिक की धुरी बने रहेंगे इस पर राजनेताओं के बीच चर्चा बेहद गर्म हो गई है। अगर ऐसा होता है तो प्रदेश कांग्रेस के सारे समीकरण ही बदल जाएंगे। माना जा रहा है कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल और मोतीलाल बोरा के निधन के बाद पार्टी में सीनियर नेताओं की कमी महसूस हो रही है। ऐसे में कमलनाथ गांधी परिवार के करीबी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता थे।
अहमद पटेल एकमात्र कांग्रेसी नेता थे जो गांधी परिवार के तीनों सदस्यों पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के करीबी है। 2018 के बाद से सोनिया के राजनैतिक सचिव और पार्टी के कोषाध्यक्ष थे। वे हर वक्त पार्टी के सबसे बड़े संकटमोचन थे और उन्होंने कांग्रेस नेताओं की कई पीढि़यों को दिशा दी है इसी श्रेणी के नेता कमलनाथ भी है। अहमद पटेल के निधन के बाद अब कमलनाथ इन पदो ंके प्रबल दावेदार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *