कांग्रेस में बड़ा संकट, पार्टी नेत्री ने ज्योतिरादित्य सिंधिया से अलग पार्टी बनाने की मांग की, बोली- हम सब आपके साथ हैं…

भोपाल/ मध्यप्रदेश कांग्रेस में खींचतान जारी है। इस बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में कई लोग खुलकर सामने आ गए हैं। कांग्रेस की एक महिला नेत्री ने तो ज्योतिरादित्य सिंधिया से अलग पार्टी बनाने की मांग कर रही है। साथ ही उसने ऐलान कर दिया है कि हम सब आपके साथ हैं। सिंधिया अपनी अनदेखी से इन दिनों नाराज चल रहे हैं। साथ ही वह खुलकर कमलनाथ की सरकार पर हमला बोल रहे हैं।

सिंधिया और उनके समर्थकों की चाहत है कि महाराज को प्रदेश की कमान सौंपी जाए। हालांकि सिंधिया खुद कभी भी इसे लेकर इच्छा प्रकट नहीं की है। पद के सवाल पर वह यहीं बोलते रहे कि उनकी कोई चाहत नहीं है। मगर उनके लोग खुलकर यह मांग करते रहे हैं कि संगठन की कमान उनके हाथों में ही सौंपा जाए। इस बीच मध्यप्रदेश महिला कांग्रेस की महासचिव रुचि ठाकुर ने तो उनसे अलग पार्टी बनाने की मांग कर दी है।

जिनके वजूद होते हैं, वो बिना पद के भी मजबूत होते हैं
प्रदेश कांग्रेस की महासचिव रुचि ठाकुर ने फेसबुक पर लिखा कि पार्टी में चल रहे द्वंद से प्रदेश के सभी कार्यकर्ता व्यथित हैं। क्योंकि महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया जी की कड़ी मेहनत से ही प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनी। मैं महाराज साहब से अनुरोध करना चाहती हूं कि बड़े महाराज कैलाशवासी माधवराव सिंधिया की पाक्टी जिसका चुनाव चिह्न उगता सूरजा था, उसे पुन: जीवित करें। हम सब आपके साथ हैं।

 

सिंधिया ने सरकार पर उठाए हैं सवाल
ज्योतिरादित्य सिंधिया खुद को मध्यप्रदेश की राजनीति में जीवित रखना चाहते हैं। पिछले कई महीनों से वह प्रदेश में एक्टिव हैं। किसान कर्जमाफी को लेकर भी उन्होंने कमलनाथ की सरकार पर सवाल उठाया था। अब हाल ही में उन्होंने अतिथि शिक्षकों को लेकर सरकार पर हमला किया है। उन्होंने कहा है कि अगर सरकार वचन पत्र के अनुसार इनकी मांगें नहीं मानती है तो हम इनके साथ सड़क पर उतरेंगे। इसके बाद कांग्रेस में तकरार बढ़ गई थी।

नरम हुए कमलनाथ
सिंधिया के इस बयान के बाद कमलनाथ ने भी तल्ख लहजे में ही जवाब दिया था। मंगलवार को सीएम कमलनाथ अब इस विवाद को लेकर नरम पड़े हैं। सिंधिया को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि सिंधिया जी ने जो कहा मैं कह दिया। मेरी किसी से कोई नाराजगी नहीं है और ना ही मैं किसी से नाराज होता हूं। उन्होंने कहा कि जब मैं शिवराज सिंह चौहान से नाराज नहीं होता हूं तो फिर ज्योतिरादित्य सिंधिया से कैसे नाराज होऊंगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *